Republic Day 2023 Speech Ideas: 26 जनवरी 2023 के लिए सिर्फ 10 मिनट में तैयार करें सबसे अच्छा भाषण

Republic Day 2023 Speech in Hindi: 26 जनवरी 2023 को देश का 74वां गणतंत्र दिवस मनाया जाएगा, तो जानिए कैसे आप कम समय में गणतंत्र दिवस पर बेहतरीन भाषण तैयार कर सकते हैं।

26 जनवरी 2023 Republic Day Speech in Hindi: गणतंत्र दिवस… 26 जनवरी… रिपब्लिक डे… नाम अनेक, लेकिन उद्देश्य एक। भारत के लोकतंत्र का जश्न। इस साल 26 जनवरी को देश अपना 74वां Republic Day मनाएगा। यह वह तारीख है जब 74 साल पहले 1950 में भारत का संविधान लागू हुआ था। गणतंत्र दिवस के मौके पर देश भर के हर स्कूल-कॉलेज में कई सांस्कृतिक कार्यक्रम, निबंध, वाद-विवाद, भाषण और कई अन्य प्रतियोगिताओं का आयोजन किया जाता है। इन्हीं में से एक है गणतंत्र दिवस भाषण। अगर आप भी गणतंत्र दिवस पर भाषण देने जा रहे हैं तो यह लेख आपकी मदद करेगा।

देश की राजधानी नई दिल्ली में राजपथ पर 26 जनवरी को सबसे बड़ा गणतंत्र दिवस समारोह होता है, जिसे अब कर्तव्य पथ के नाम से जाना जाता है। भारतीय सेना, नौसेना और वायु सेना सभी इस दिन हर साल आयोजित होने वाली भव्य गणतंत्र दिवस परेड में भाग लेते हैं। आइए जानते हैं कि कैसे आप कम समय में अपना 26th January Speech in Hindi में तैयार कर सकते हैं।

गणतंत्र दिवस 2023 भाषण युक्तियाँ

  • भाषण बहुत लंबा नहीं होना चाहिए। यह लोगों को बोर कर सकता है।
  • आपके भाषण की भाषा कठिन नहीं होनी चाहिए, इसे सरल और बोलचाल की भाषा में रखें।
  • जानकारी सही और ठोस होनी चाहिए।
  • कुछ नारों का प्रयोग भाषण के आरंभ, अंत या मध्य में किया जा सकता है, सुनने वालों के दिल भर आते हैं।
  • भाषण देने में जल्दबाजी न करे, पूर्णविराम, अल्पविराम वाले स्थानों पर अगली पंक्ति शुरू करने से पहले रुकें।

ऐसे तैयार करें 26th January 2023 Speech in Hindi

26th January 2023 पर आपका भाषण इस तरह शुरू होना चाहिए– आदरणीय प्रधानाचार्य, शिक्षकगण, और प्रिय साथियों…नमस्कार। अब भाषण शुरू करें- हम सब यहां अपना 74वां गणतंत्र दिवस मनाने के लिए एकत्रित हुए हैं। हम हर साल 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के रूप में मनाते हैं, क्योंकि इसी दिन साल 1950 में भारत का संविधान लागू हुआ था। यही वह तारीख है, जब हम सही मायने में आजाद हुए थे। जब हमें हमारा मूल अधिकार मिला।

अब अपने भाषण में गणतंत्र दिवस से जुड़ी और जानकारी और तथ्य शामिल करें। यहां आप स्लोगन भी लगा सकते हैं। जैसा-

‘धर्म के नाम पर मत जिओ, धर्म के नाम पर मत मरो, मानवता ही देश का धर्म है, बस देश के नाम पर जियो’

मैं उन महान नेताओं और स्वतंत्रता सेनानियों के सम्मान के निशान के रूप में एक पल के मौन के साथ समाप्त करना चाहता हूं जिन्होंने अपना बलिदान दिया..ताकि हम एक स्वतंत्र और लोकतांत्रिक देश में रह सकें। यहां एक बार फिर हम 26th January का नारा लगा सकते हैं-

‘आज के दिन के लिए वीरों ने बहाया है खून, उठो देशवासियों, फिर आया गणतंत्र दिवस’

अब मैं अपनी बात समाप्त करता हूं- गणतंत्र दिवस पर आप सबके सामने अपनी बात रखने का अवसर देने के लिए मैं एक बार फिर से आभार व्यक्त करना चाहता हूं।

Ulka News Home Page Click Here

Leave a Comment

Join Our Whatsapp Group